पहले PM मोदी को अवॉर्ड का विरोध, फिर 24 घंटे में ही PAK के ठिकाने आए होश

पहले PM मोदी को अवॉर्ड का विरोध, फिर 24 घंटे में ही PAK के ठिकाने आए होश
जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को कमजोर करने का भारत ने जो फैसला लिया है, उससे सबसे ज्यादा मिर्ची पाकिस्तान को लगी है. पाकिस्तान को ये बात हजम ही नहीं हो रही है, यही कारण है कि वो दुनिया के हर देश के आगे गुहार लगा रहा है. अभी हाल ही में संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने देश के सर्वोच्च सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ जायद’ से नवाज़ा, लेकिन पाकिस्तान को ये रास नहीं आया. पहले तो वहां के सीनेट ने UAE का विरोध करने की बात कही लेकिन कुछ ही घंटों बाद विदेश मंत्री ने UAE से बात करने को कह दिया.
 
दरअसल, पाकिस्तान को लगता है कि जम्मू-कश्मीर में जो हो रहा है उसपर दुनिया को उसका साथ देना चाहिए. खासकर UAR जैसे मुस्लिम देशों को उसके साथ खड़ा होना चाहिए और भारत की आलोचना करनी चाहिए. पीएम मोदी को ‘ऑर्डर ऑफ जायद’ से नवाजे जाने के बाद अब पाकिस्तान UAE के सामने जम्मू-कश्मीर के मसले को उठाएगा, पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी जल्द ही UAE के विदेश मंत्री से मुलाकात करेंगे.
 
आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी को जब UAE के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान से ये सम्मान मिला तो पाकिस्तान सीनेट के चेयरमैन सादिक संजरानी ने अपना UAE दौरा रद्द कर दिया. ये दौरा पीएम मोदी को सम्मान दिए जाने के विरोध में रद्द किया गया. उनका कहना है कि अगर वह UAE जाएंगे तो कश्मीर के लोगों को दुख पहुंचेगा.
 
इसके बाद रविवार शाम को पाकिस्तानी मीडिया से बात करते हुए वहां के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि कोई भी देश किसी भी देश के साथ संबंध रख सकता है, हम उसमें कुछ नहीं कर सकते हैं. अगर UAE या बहरीन, भारत से संबंध बनाते हैं तो ये उनका फैसला है क्योंकि उन देशों के व्यापारिक संबंध हैं. विदेश नीति में धार्मिक मसले काम नहीं आते हैं.
 
साथ ही साथ उन्होंने ये भी कहा कि वह जल्द ही यूएई जाएंगे और वहां के विदेश मंत्री से मुलाकात करेंगे और जम्मू-कश्मीर के हालात के बारे में बताएंगे. हालांकि, पाकिस्तान को ये भी याद रखना चाहिए कि UAE पहले ही अनुच्छेद 370 के मसले को भारत का आंतरिक मामला बता चुका है. ऐसे में पाकिस्तान को वहां से पहले ही झटका लग चुका है.
 
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भारत और यूएई के बीच संबंधों को बेहतर बनाने के लिए वहां के सर्वोच्च सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ जायद’ से नवाज़ा गया है. इसके अलावा बहरीन ने भी पीएम मोदी को हाल ही के दौरे पर सम्मानित किया है.