कर्ज में डूबी एयरलाइन कंपनी, आज कर्ज देने वाले बैंकों की मीटिंग

कर्ज में डूबी एयरलाइन कंपनी, आज कर्ज देने वाले बैंकों की मीटिंग
कर्ज में डूबी एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज को लेकर आज यानी सोमवार को कोई बड़ा फैसला आ सकता है. जेट एयरवेज को कर्ज देने वाले बैंकों की मीटिंग होने वाली है.
अस्‍थायी तौर पर बंद हो चुकी एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज के भविष्‍य पर सोमवार यानी आज अहम फैसला आ सकता है. दरअसल, जेट एयरवेज को कर्ज देने वाले बैंकों की मीटिंग होने वाली है. इस मीटिंग में एयरलाइन के भविष्‍य को लेकर मंथन होने की संभावना है. इस बीच, सप्‍ताह के पहले दिन के कारोबार में जेट एयरवेज के शेयर में ऐतिहासिक गिरावट दर्ज की गई है.
 
RBI के सर्कुलर पर भी चर्चा
 
इकोनॉमिक्‍स टाइम्‍स की खबर के मुताबिक कर्जदाताओं की बैठक में आरबीआई के 7 जून के स्ट्रेस्ड ऐसेट्स पर सर्कुलर को लेकर भी विचार हो सकता है. खबर के मुताबिक जेट एयरवेज के लिए कोई गंभीर प्रस्ताव नहीं मिला है. इसलिए दिवाला कानून के तहत इस मामले को निपटाने की संभावना पर भी गौर किया जाएगा. इसके अलावा बैंक यूएस एग्जिम बैंक को 200 करोड़ रुपये का भुगतान करके जेट के 6 एयरक्राफ्ट का कब्जा लेने के प्रस्ताव पर भी विचार करेंगे.
 
ऑल टाइम लो पर शेयर
 
बैठक से पहले बाजार में जेट एयरवेज के शेयर ऑल टाइम लो लेवल पर पहुंच गए. कारोबार के दौरान सेंसेक्‍स पर शेयर में करीब 15 फीसदी की गिरावट आई और यह 69.75 रुपये के भाव पर आ गया. इससे पहले शुक्रवार को सेंसेक्‍स 82.05 रुपये के भाव पर पहुंच गया था. बीते 11 दिन में एयरलाइन के शेयर 52.73 फीसदी तक टूट गए हैं. वहीं एक साल में जेट एयरवेज के शेयर में करीब 81 फीसदी की गिरावट आई है.
 
बता दें कि जेट एयरवेज पर 8,500 करोड़ रुपये का कर्ज है. कर्ज में डूबी यह एयरलाइन बीते 17 अप्रैल से सारी उड़ानें अस्‍थायी तौर पर बंद कर चुकी है. वहीं कंपनी के कर्मचारी कई महीनों से सैलरी के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं. जेट एयरवेज के स्‍लॉट भी दूसरी एयरलाइन कंपनियों को दे दिए गए हैं.